गोपालगंज: कांस्टेबल अजीत सिंह हत्याकांड में खुलासे के करीब पहुंची पुलिस, 4 संदिग्धों को उठाया


हाइलाइट्स

पुलिस का दावा है कि अगले 24 से 48 घंटे में इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझ सकती है.
पुलिस 4 संदिग्धों से लगातार पूछताछ कर रही है, इनमें में 2 महिलाएं भी शामिल हैं.

गोपालगंज. पुलिस लाइन में हुए कांस्टेबल अजीत कुमार सिंह की हत्या में पुलिस ने 4 संदिग्धों को उठाया है. पुलिस को अबतक की जांच में हत्या से जुड़े कई अहम सुराग मिले हैं. जिन 4 लोगों को उठाया गया है, उनसे पुलिस लगातार पूछताछ कर रही है. पुलिस का दावा है कि अगले 24 से 48 घंटे में इस हत्याकांड की गुत्थी सुलझ सकती है. कांस्टेबल के हत्यारों को पकड़ने के लिए जांच टीम टेक्निकल सेल की मदद ले रही है.

उठाए गए 4 संदिग्धों में 2 महिलाएं भी शामिल हैं. इन दोनों महिलाओं का लोकेशन मौका-ए-वारदात के आसपास ही मिला है. इनके अलावा दो ऐसे संदिग्ध हैं, जो घर छोड़कर फरार हैं. पुलिस फरार संदिग्धों को पकड़ने के लगातार छापेमारी कर रही है, लेकिन उनका लोकेशन बार-बार बदल रहा है. शक के दायरे में पहुंचे दोनों संदिग्धों के करीबियों से पुलिस पूछताछ कर रही है.

एसपी आनंद कुमार ने कहा कि वारदात में जो लोग भी शामिल हैं, उन्हें नहीं बख्शा जाएगा. एसपी ने बताया कि कांस्टेबल अजीत कुमार सिंह की हत्या में शामिल अपराधियों की गिरफ्तारी के लिए एसआइटी का गठन किया गया है, जो सदर एसडीपीओ संजीव कुमार के नेतृत्व में लगातार छापेमारी कर रही है. एसपी ने जल्द ही खुलासा करने का दावा किया है.

पानी टंकी से लाश की बदबू

इस हत्याकांड के बाद पुलिस लाइन के पास पुलिस को नाले के पास एक पानी टंकी मिली. इस टंकी से लाश की बदबू आ रही थी. वहीं पर पुलिस ने खून का धब्बा भी देखा. पुलिस को शक है कि कांस्टेबल की हत्या के बाद उसकी लाश पानी टंकी में छिपाई गई, फिर नाले में डाल दी गई. तीन दिनों बाद लाश जब फूलने लगी तो नाले के ऊपर आ गई. बाद में पुलिस ने लाश का पोस्टमॉर्टम कराया. जिस मकान की टंकी से लाश की दुर्गंध निकल रही थी, उस मकान में कोई नहीं था. हालांकि दुर्गंध और खून के धब्बे इंसान के लाश के हैं या जानवर के, इसका अबतक खुलासा नहीं हो सका है.

कई घरों में तलाशी

शुक्रवार को नगर थाना क्षेत्र के काली स्थान रोड पर पुलिस ने एक साथ कई घरों की तलाशी ली. मकानों की तलाशी में पुलिस को कई अहम सुराग मिले. वहीं कुछ लोगों के घर से गायब होने की सूचना भी मिली. इन लोगों की तलाश में पुलिस छापेमारी कर रही है. फिलहाल पुलिस ने अबतक दर्जन भर से ज्यादा लोगों से पूछताछ की है. इनमें से कई लोगों को छोड़ दिया गया है, जबकि 4 लोगों से लगातार पूछताछ चल रही है.

क्या है कांस्टेबल हत्याकांड

सीवान जिले के महाराजगंज थाने के जगदीशपुर गांव के रहनेवाले नंदकिशोर सिंह का बेटा अजीत कुमार सिंह जिला पुलिस बल (डीएपी) का जवान था. कोर्ट परिसर में ड्यूटी थी और रात में वह पुलिस लाइन में रहता था. बीते 26 जुलाई की रात में पुलिस लाइन से लापता हुआ और 28 जुलाई की सुबह में पुलिस लाइन के पीछे काली स्थान रोड पर नाले में उसकी लाश मिली. अजीत के पिता ने नगर थाने में अज्ञात अपराधियों के विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराई है.

Tags: Bihar News, Crime In Bihar, Gopalganj Police



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.