गूगल और चैट जीपीटी में क्या अंतर है? यहां सिंपल शब्दों में जानिए


ChatGPT vs Google: एक हफ्ते के भीतर 1 मिलियन के ट्रैफिक को हासिल कर ‘चैट जीपीटी’ ने गूगल की सत्ता हिला कर रख दी थी. दरअसल, सदियों से टेक जॉइंट गूगल का इंटरनेट की दुनिया में राज है. लोगों को अगर कुछ भी नया सर्च या जानना होता है तो वे फौरन गूगल करते हैं. गूगल की पॉपुलैरिटी इतनी है कि इसके सामने आज तक कोई नहीं टिक पाया है. लेकिन अब ‘चैट जीपीटी’ गूगल को कड़ी टक्कर देने वाला है. कई लोगों का मानना है कि आने वाले समय में गूगल का सर्च बिजनेस चैट जीबीटी एक तरीके से खत्म कर देगा. यहां तक कि खुद गूगल ने चैट जीपीटी को अपने लिए रेड अलर्ट घोषित कर दिया है और कंपनी इससे बेहतर चैटबॉट बनाने पर काम कर रही है. आज इस लेख के माध्यम से हम आपको बताएंगे कि ओपन एआई का चैटबॉट गूगल से कैसे अलग और बेहतर है. यहां हम आपको सरल उदाहरण से समझाएंगे जिससे आप आसानी से दोनों के बीच फर्क कर पाएंगे.

चैट जीपीटी मशीन लर्निंग पर बेस्ड एक AI टूल है जिसमें पब्लिकली मौजूद डेटा फीड किया गया है.

उदाहरण से समझिए

सर्च इंजन गूगल पर जब आप खेल जगत के मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के बारे में सर्च करेंगे तो आपको गूगल पर उनसे जुड़ी खबरें और उनके बारे में कई जानकारी अलग-अलग लिंक्स, वीडियो आदि के माध्यम से मिलेंगी. यानि आपको कुछ भी सर्च करने पर कई ऑप्शन मिलेंगे जिससे आप जानकारी प्राप्त कर सकते हैं.

news reels

लेकिन अगर आप यही काम चैट जीपीटी पर करेंगे तो आपको गूगल की तरह कई ऑप्शन नहीं मिलेंगे बल्कि ये सीधे आपको टेक्स्ट के फॉर्मेट में उसका जवाब सरल शब्दों में दे देगा. जैसा कि आप इस फोटो में भी देख सकते हैं कि किस तरह सचिन तेंदुलकर के बारे में चैट जीपीटी ने सीधे आपको बता दिया है कि उन्होंने 2013 में खेल जगत से संयास ले लिया था और इंटरनेशनल क्रिकेट में 30,000 रन बनाए हैं.

एक और उदाहरण से समझिए. जब आप गूगल पर नेचर (प्रकृति) पर कविता की खोज करेंगे तो आपको यहां कई सारे ऑथर्स के बारे में जानकारी मिलेगी जो नेचर पर कविता लिखते हैं या फिर कई कविताएं आपके सामने होंगी. इसमें से आपको जो कविता सबसे अच्छी लगे वो आप चुन सकते हैं. लेकिन इसके लिए आपको डिटेल रिसर्च करनी होगी और ये टाइम कंजूमिंग प्रोसेस है.

जबकि अगर आप यही काम चैट जीपीटी पर सर्च करेंगे तो ये आपको सीधे एक कविता लिखकर दे देगा जिससे आपका काम आसान हो जाता है और आपको ज्यादा रिसर्च नहीं करनी पड़ती.

तो कुल मिलाकर गूगल और चैट जीपीटी में अंतर ये है कि चैट जीपीटी आपको फटाफट जवाब दे देता है जबकि गूगल आपको कई सारे लिंक और जवाब के कई विकल्प देता है. आप चाहे तो वीडियो, इमेज आदि में सवाल का जवाब खोज सकते हैं. जबकि चैट जीपीटी में आपको टेक्स्ट के माध्यम से सीधे जवाब ये टूल देता है. बता दें, चैट जीपीटी को ओपनएआई ने तैयार किया है. ओपनएआई आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस पर रिसर्च करने वाली कंपनी है जिसकी शुरुआत एलन मस्क और सैम अल्टमैन ने 2015 में की थी. लेकिन बाद में एलन मस्क इस कंपनी से अलग हो गए थे.

डिस्क्लेमर! OpenAI के ChatGPT पर सवाल पूछने के बाद जो भी जवाब/प्रतिक्रिया आई हैं, हमने उनका खबर में हूबहू प्रयोग किया है. हम ChatGPT द्वारा दिए गए जबावों या उनके प्रभावों के लिए जिम्‍मेदार नहीं हैं.

यह भी पढ़ें:

iOS 16.3 Release Date: iPhone यूजर्स को अब मिलेगी पहले ज्यादा सिक्योरिटी और एडवांस फीचर्स, आने वाला है iOS 16.3 अपडेट



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *