गणेश चतुर्थी पर बनाएं मुंबई घूमने का प्लान, पंडालों को देखते ही होने लगेगा महल में रहने का एहसास


सावन का त्योहार जैसे ही जाता है, वैसे ही सितंबर के महीने से गणेश चतुर्थी उत्सव की चहल पहले दिखाई देने लगती है। बप्पा के आने से मानों सबमें एक नया जोश भर जाता है। गणेश चतुर्थी का त्योहार 30 अगस्त से शुरू होने वाला, ऐसे में महाराष्ट्र में तैयारियां शुरू हो चुकी हैं। बप्पा के भक्तों को एक बार मुंबई जरूर जाना चाहिए। अगर आप इस मौसम में कहीं जाने का प्लान बना रहे हैं, तो मुंबई जरूर जाएं। गणेश चतुर्थी के दौरान मुंबई की यात्रा मानों आपकी यादगार बन जाएगी।

लालबागचा राजा – Lalbaugcha Raja Sarvajanik Ganeshotsav Mandal, Lalbaug

-lalbaugcha-raja-sarvajanik-ganeshotsav-mandal-lalbaug

लालबाग के राजा, लालबागचा मुंबई में सबसे प्रसिद्ध गणेश प्रतिमा में से एक हैं। मंडल की स्थापना 1934 में हुई थी, और यह शहर में सबसे अधिक देखा जाने वाला मंडल बन गया है। अगर आप गणेश चतुर्थी के दौरान मुंबई जाना चाहते हैं, तो एक बार लालबागचा राजा जरूर जाएं। यहां एक दिन में करीबन 15 लाख लोग आते हैं, ये सुनकर आप खुद हैरान रह गए होंगे।

कहां : लालबाग बाजार, जीडी गोएंका रोड, लालबाग

जीएसबी सेवा मंडल गणपति – Goud Saraswat Brahmin (GSB) Seva Mandal, Wadala

-goud-saraswat-brahmin-gsb-seva-mandal-wadala

जीएसबी सेवा मंडल गणपति को शहर का सबसे अमीर मंडल माना जाता है। हर साल यहां भगवान गणेश की मूर्ति को सबसे उत्तम सोने और चांदी के आभूषणों से सजाया जाता है। हजारों भक्त यहां आशीर्वाद लेने के लिए आते हैं। यह एकमात्र ऐसा पंडाल भी है, जहां उत्सव की के दिनों में 24 घंटे अनुष्ठान विधि की जाती है।

कहां : द्वारकानाथ भवन, कटक रोड, वडाला

गणेश गली मुंबईचा राजा – Ganesh Galli Mumbaicha Raja

-ganesh-galli-mumbaicha-raja

गणेश गली (लेन) में मुंबईचा राजा, लालबागचा राजा से कुछ ही लेन की दूरी पर स्थित है और यह बहुत लोकप्रिय पंडाल भी है। इस जगह पर हर साल नई-नई चीजें देखने को मिलती हैं, इसी वजह से ये जगह भारत में काफी प्रसिद्ध है। इसे 1928 में मिल श्रमिकों को लाभ देने के लिए शुरू किया गया था।

अंधेरीचा राजा – Andhericha Raja

-andhericha-raja

अंधेरी के राजा को गणेश चतुर्थी के 10 दिनों के दौरान एक राजा की तरह पूजा जाता है और 1966 से यहां हर तरह की इच्छाएं पूरी होती हैं। यहां आपको कई मशहूर हस्तियां भी दिख जाएंगी। यहां की सजावट और वातावरण लोगों को मंत्रमुग्ध कर देगा।

गिरगांवचा राज – Girgaon Cha Raja

-girgaon-cha-raja

गिरगांव चौपाटी समुद्र तट के पास गिरगांवचा महाराजा बैठते हैं और यह शहर के सबसे लोकप्रिय पंडालों में से एक है। 2016 के बाद से यहां गणपति का अनुसरण किया जाता है और लोगों की भी यहां अच्छी खासी भीड़ देखने को मिलती है।

खेतवाडीचा गणराजी – Khetwadi Cha Ganraj

-khetwadi-cha-ganraj

इस पंडाल के बारे में एक दिलचस्प तथ्य यह है कि गणेश की मूर्ति का आकार इतने सालों से वैसा का वैसा ही है और मूर्ती निर्माता भी काफी समय से मूर्तियां बना रहा है। एक बार आप जब आप इस जगह पर पहुंचेंगे तो आपको 13 लेन दिखेगी, प्रत्येक में आपको गणेश पंडाल दिखाई देगा। हालांकि, सबसे लोकप्रिय 12वीं लेन में पंडाल है।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.