“क्योंकि तांत्रिक ने कहा कि वे हार जाएंगे …”: तेलंगाना में अमित शाह का केसीआर पर प्रहार


तेलंगाना में महीने भर चलने वाली बीजेपी की ‘प्रजा संग्राम यात्रा’ के दूसरे चरण के समापन दिवस पर शनिवार को राज्य के दौरे के दौरान एक जनसभा को संबोधित करते हुए अमित शाह ने कहा, “आपको यह कहने के लिए एक तांत्रिक की आवश्यकता नहीं है कि तेलंगाना के युवा आपको बाहर निकाल देंगे.” 

केसीआर के नेतृत्व वाली सरकार को “भ्रष्ट और बेकार” बताते हुए, उन्होंने लोगों से राज्य भाजपा प्रमुख बंडी संजय कुमार के लिए समर्थन व्यक्त करने के लिए पार्टी द्वारा जारी एक फोन नंबर पर मिस्ड कॉल देने की अपील की.

गृह मंत्री ने तेलंगाना राज्य के निर्माण के दौरान किए गए वादों की ओर इशारा किया और लोगों से पूछा कि क्या वे पूरे हुए? उन्होंने कहा कि “मैं तेलंगाना के लोगों को याद दिलाना चाहता हूं कि केसीआर ने नीलू (पानी), निधुलु (फंड) और नियमकालु (नौकरियों) का वादा किया था. क्या इसमें से कोई भी पूरा हुआ है? हम उन वादों को पूरा करेंगे. हम पानी, धन और नौकरी देंगे.” 

शाह ने मुख्यमंत्री पर किसानों के मुद्दों, दलितों, ओबीसी से किेए गए वादों और महत्वपूर्ण बुनियादी ढांचे के विकास को लेकर भी हमला किया.

उन्होंने कहा कि “आपने किसानों का कर्ज माफ करने का वादा किया… आपने टू बीएचके फ्लैट देने का वादा किया…आपने नहीं दिया..आपने दलितों के लिए 50,000 करोड़ का वादा किया…आपने हर दलित को तीन एकड़ जमीन देने का वादा किया…आपने किया.. 30 पैसे भी नहीं देते.” 

भाजपा के वरिष्ठ नेता, जिनकी पार्टी ने पिछले दो वर्षों में दो विधानसभा उपचुनाव और ग्रेटर हैदराबाद नगर निगम (GHMC) का चुनाव जीता था, ने अगले साल होने वाले चुनावों में राज्य में भाजपा के सत्ता में आने का विश्वास व्यक्त किया और मतदाताओं से आग्रह किया कि एक सुरक्षित और समृद्ध तेलंगाना की शुरुआत करने के लिए भगवा पार्टी का चुनाव करें.

सत्तारूढ़ सरकार पर हमला जारी रखते हुए उन्होंने बताया कि केसीआर ने पिछड़े वर्गों के कल्याण के लिए 100 करोड़ रुपये भी आवंटित नहीं किए.

शाह ने कहा, “आपको हैदराबाद में चार सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल बनाने थे, लेकिन आपने तो उस्मानिया और गांधी मेडिकल कॉलेजों को खराब कर दिया.”

गृह मंत्री ने कांग्रेस नेता राहुल गांधी के इस आरोप को दोहराया कि राज्य सरकार ने सिर्फ एक व्यक्ति और उसके परिवार के लाभ के लिए काम किया.

उन्होंने कहा कि केसीआर ने अपने बच्चों को अधिकार दिए हैं न कि निर्वाचित प्रतिनिधियों को.

टीआरएस के चुनाव चिन्ह कार का उल्लेख करते हुए अमित शाह ने आरोप लगाया कि इसका संचालन एआईएमआईएम नेता असदुद्दीन ओवैसी के हाथों में है.

उन्होंने कहा, “मैं पिछले 13 साल से सार्वजनिक जीवन में हूं और इससे बुरी सरकार कभी नहीं देखी.”

गृह मंत्री ने धान खरीद, शिक्षा और आवास जैसे कई मुद्दों पर केसीआर सरकार पर हमला किया. उन्होंने राज्य सरकार पर केंद्र द्वारा वित्त पोषित परियोजनाओं का नाम बदलकर उन पर अपनी और अपने बेटे की तस्वीर लगाकर लोगों को बेवकूफ बनाने का भी आरोप लगाया.

भाजपा कार्यकर्ताओं के खिलाफ कथित सख्ती पर उन्होंने दावा किया कि तेलंगाना को पश्चिम बंगाल जैसा बनाने की कोशिश की जा रही है. पूर्वी राज्य में पार्टी कार्यकर्ताओं की मौत का एक स्पष्ट संदर्भ है, जिसके लिए भाजपा वहां सत्तारूढ़ टीएमसी को दोषी मानती है.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.