क्या नेपाल प्लेन क्रैश का जिम्मेदार है चीन? खराब निकला चाइनीज कंस्ट्रक्शन, निगल गया 72 यात्रियों की जान


nepal china

ANI

चीन की चीजों पर कभी आंख मूद कर भरोसा करना सबसे बड़ी मुर्खता साबित हो सकती हैं। इस बात को चाइनीज प्रोडक्ट कई बार साबित कर चुके हैं। चीन अपनी दावों की तरह ही कच्चे काम भी करता हैं। नेपाल के हाल ही में बने पोखरा अंतरराष्ट्रीय हवाई पर रविवार एक भयानक हादसा हुआ और एक प्लेन क्रैश हो गया।

काठमांडू। चीन की चीजों पर कभी आंख मूद कर भरोसा करना सबसे बड़ी मुर्खता साबित हो सकती हैं। इस बात को चाइनीज प्रोडक्ट कई बार साबित कर चुके हैं। चीन अपनी दावों की तरह ही कच्चे काम भी करता हैं। नेपाल के हाल ही में बने पोखरा अंतरराष्ट्रीय हवाई पर रविवार एक भयानक हादसा हुआ और एक प्लेन क्रैश हो गया। इस एयपोर्ट का कंस्ट्रक्शन चीन ने हाल ही मं करवाया था। खबरों के मुताबिक पाल में पोखरा अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे का उद्घाटन दो सप्ताह पहले देश के नवनियुक्त प्रधानमंत्री पुष्प कमल दहल प्रचंड द्वारा किया गया था और इसका निर्माण चीन की सहायता से किया गया था।
इसी हवाई अड्डे पर एक विमान रविवार को उतरते समय दु्र्घटनाग्रस्त हो गया, जिसमें 72 व्यक्ति सवार थे।

अन्नपूर्णा पर्वत श्रृंखला की पृष्ठभूमि में निर्मित, हवाई अड्डे का आधिकारिक उद्घाटन एक जनवरी, 2023 को किया गया था। यह महत्वपूर्ण परियोजना चीन के ‘बेल्ट एंड रोड इनिशिएटिव’ (बीआरआई) सहयोग का हिस्सा थी।
समाचार पत्र ‘काठमांडू पोस्ट’ के मुताबिक, नेपाल सरकार ने हवाई अड्डे के निर्माण के लिए मार्च 2016 में चीन के साथ कम ब्याज दर पर 21.59 करोड़ डॉलर के ऋण समझौते पर हस्ताक्षर किए थे।
पिछले साल, चीन के पूर्व विदेश मंत्री वांग यी ने पोखरा क्षेत्रीय अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे को नेपाल के तत्कालीन प्रधानमंत्री शेर बहादुर देउबा को बालुवाटार में आयोजित एक शिष्टाचार भेंट के दौरान सौंपा था।

एक बचाव अधिकारी ने बताया कि पोखरा में रविवार को हवाई अड्डे पर उतरने के दौरान पांच भारतीयों समेत 72 लोगों को लेकर जा रहा एक नेपाली यात्री विमान रविवार को नदी घाटी में दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिसमें कम से कम 68 लोगों की मौत हो गई।
नेपाल के नागर विमानन प्राधिकरण (सीएएएन) के अनुसार, यति एयरलाइंस के 9एन-एएनसी एटीआर-72 विमान ने काठमांडू के त्रिभुवन अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे से पूर्वाह्न 10:33 बजे उड़ान भरी। पोखरा हवाई अड्डे पर उतरते वक्त विमान पुराने हवाई अड्डे और नए हवाई अड्डे के बीच सेती नदी के तट पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया।





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *