कोरोना के फिर से बढ़ते संक्रमण को लेकर चिंतन: PGIMS के निदेशक ने आपात बैठक बुलाकर दिए निर्देश, रोहतक जिले में 5 लाख 45 हजार 941 लोग हो चुके वैक्सीनेट; अब सिर्फ 4 केस एक्टिव


  • Hindi News
  • Local
  • Haryana
  • Rohtak
  • Director Of PGIMS Gave Instructions By Calling An Emergency Meeting, 5 Lakh 45 Thousand 941 People Have Been Vaccinated In Rohtak District; Now Only 4 Cases Are Active

रोहतक17 घंटे पहले

  • कॉपी लिंक

रोहतक PGIMS में डॉक्टर्स की मीटिंग लेते निदेशक डॉ. रोहताश यादव।

हरियाणा में अचानक एक बार फिर से कोरोना के केस बढ़ने शुरू हो गए हैं। इसको देखते हुए मंगलवार को PGIMS के निदेशक डॉ. रोहताश यादव ने कुलपति कार्यालय के स्वर्ण जयंति सभागार में कोविड से जुड़े सभी विभागों के चिकित्सकों के साथ आपात बैठक बुलाई और जरूरी दिशा-निर्देश दिए। ये अलग बात है कि रोहतक जिले में कोरोना संक्रमण लगातार घट रहा है। इस वक्त सिर्फ 4 एक्टिव केस हैं, वहीं जिले में अब तक 5 लाख 45 हजार 941 लोगों को वैक्सीन दी जा चुकी है।

PGIMS के निदेशक डॉ. रोहताश यादव ने कहा कि अचानक से कोविड के केस एक बार फिर से आने लग गए हैं और ऐसे में प्रदेश का इतना बड़ा स्वास्थ्य संस्थान होने के नाते हमें किसी भी आपात स्थिति से निपटने के लिए पहले ही तैयार होना होगा, इसके चलते आज यह आपात मीटिंग बुलाकर सभी अधिकारियों की ड्यूटी तय कर सभी जरूरी दिशा-निर्देश जारी किए गए हैं। डॉ. यादव ने कहा कि पिछले अनुभवों को देखते हुए सभी कमियों को तत्परता के साथ दूर किया जाए। उन्होंने कहा कि मरीजों को प्रथम चरण में सी-ब्लॉक को कोविड ट्रॉयज एरिया के तौर पर रखा गया है और जरूरत पड़ने पर ट्रॉमा सेंटर को फिर से पूर्ण रूप से कोविड अस्पताल दूसरे चरण में बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि उनका प्रयास रहेगा कि मरीजों को किसी प्रकार की कोई कमी नहीं आने दी जाए। डॉ. यादव ने कहा कि मरीजों के परिजनों को बाद में किसी प्रकार की कोई परेशानी ना आए, इसके लिए इस बार फाइल मैनेजमेंट की जिम्मेदारी नर्सिंग सिस्टर को दी जाएगी। उन्होंने कहा कि जल्द ही कोविड जांच सैंपलिंग का समय भी बढ़ाया जाएगा।

जिले में इस वक्त कोविड-19 के 4 एक्टिव मरीज
आज कोविड-19 के 944 सैंपल जांच के लिए भेजे गए, जिनमें से एक सैंपल पॉजिटिव पाया गया, जबकि 445 सैंपल का परिणाम आना बाकी है। आज तक के आंकड़ों के अनुसार जिला में अब तक 495662 व्यक्तियों को सर्वेलेंस पर रखा गया, जिनमें संक्रमितों के सम्पर्क में आए व्यक्ति भी शामिल है।

जिले में अब तक कोविड-19 के 4 लाख 97 हजार 146 सैंपल लिए गए हैं, जिनमें से 25888 सैंपल पॉजिटिव पाए गए व 4 लाख 70 हजार 813 सैंपल निगेटिव पाए गए। इनमें से उपचार के बाद 25318 व्यक्ति स्वस्थ होकर अपने घर जा चुके हैं। जिला में वर्तमान में कोविड-19 के 4 एक्टिव मरीज है। ये एक्टिव मरीज घर में एकांतवास में कोविड-19 का इलाज ले रहे हैं। जिला प्रशासन द्वारा घरों में एकांतवास में रह रहे मरीजों को मैडिकल किट वितरित की गई है, जिनमें आवश्यक स्वास्थ्य उपकरण, दवाइयां एवं रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने की दवाई व काढ़ा शामिल है।

ये है वैक्सीनेशन का आंकड़ा
जिला टीकाकरण अधिकारी डॉ. अनिलजीत त्रेहान ने बताया कि जिला में महामारी से बचाव के लिए चलाए जा रहे टीकाकरण अभियान के तहत अब तक 545941 डोज दी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि हेल्थ केयर वर्कर को अब तक 24747 डोज दी जा चुकी है। इसी प्रकार फ्रंटलाइन वर्कर को 16086 डोज दी जा चुकी है। इसी प्रकार 18 से 44 आयु वर्ग में 238675 डोज लगाई जा चुकी है। 45 से 60 आयु वर्ग में 135835 डोज लगाई जा चुकी है। उन्होंने बताया कि 60 वर्ष या इससे अधिक आयु वर्ग में 130598 डोज लगाई जा चुकी है। डॉक्टर त्रेहान ने बताया कि आज कोविशिल्ड की 5177 व को-वैक्सीन की 453 डोज लगाई गई।

डीसी ने कहा-लापरवाही न बरतें लोग
डीसी कैप्टन मनोज कुमार ने कहा कि जिले में कोविड संक्रमण के मामले लगातार घट रहे हैं व जिलावासी भविष्य के लिए सतर्क रहे एवं लापरवाही न बरतें। सभी जिलावासी कोविड उचित व्यवहार को जीवन का हिस्सा बनाएं। वे हमेशा मास्क का प्रयोग करे, 2 गज की सामाजिक दूरी का पालन करें। अपने हाथों को बार-बार हैंड सेनेटाइजर या साबुन एवं पानी से साफ करते रहें। अनावश्यक रूप से भीड़ का हिस्सा न बने व तंग बाजारों में जाने से बचें। सरकार द्वारा जारी कोविड हिदायतों का स्वेच्छा से पालन करें। यह सभी हिदायतें आमजन के स्वास्थ्य के दृष्टिïगत जारी की गई है।

खबरें और भी हैं…



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *