उत्तर प्रदेश: बाराबंकी ज़िला जेल में बंद 26 क़ैदी एचआईवी संक्रमित मिले


बाराबंकी ज़िला कारागार में 20 दिनों में तीन चरणों में लगाए गए एचआईवी शिविर के दौरान क़ैदियों की जांच की गई थी, जिसमें 26 क़ैदी संक्रमित पाए गए हैं. जेल में कुल 3,300 क़ैदी हैं और अभी महिला क़ैदियों की जांच किया जाना बाक़ी है.

(प्रतीकात्मक फोटो: रॉयटर्स)

बाराबंकी: बाराबंकी जिला कारागार में 26 कैदियों के एचआईवी संक्रमित होने का मामला सामने आया है, जिनमें दो की हालत ज्यादा गंभीर होने पर लखनऊ के राम मनोहर लोहिया अस्पताल में उनका उपचार किया जा रहा है. आधिकारिक रूप से सोमवार को यह जानकारी दी गई.

जिला कारागार में 20 दिनों में तीन चरणों में लगाए गए एचआईवी शिविर के दौरान की गई जांच में 26 कैदी एचआईवी पॉजिटिव (संक्रमित) पाए गए, जिसमें दो की तबियत ज्यादा खराब होने पर लखनऊ के लोहिया अस्पताल में एआरटी (एंटी-रेट्रोवायरल थेरेपी) से उपचार किया जा रहा है.

आज तक की खबर के अनुसार, जिला जेल में इन कैदियों की जांच 10 अगस्त से 1 सितंबर के बीच की गई थी. अभी 70 महिला कैदियों की जांच होना बाकी है.

जिला जेल के जेलर आलोक शुक्ला ने बताया कि स्वास्थ्य विभाग द्वारा जांच में 26 कैदी संक्रमित पाए गए हैं. उन्‍होंने बताया कि पीड़ित कैदियों के इलाज के लिए लखनऊ लोहिया अस्पताल से संपर्क कर समुचित उपचार के उपाय किए जा रहे हैं.

बाराबंकी के मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) अवधेश यादव ने बताया कि कारागार में 26 कैदी एचआईवी पॉजिटिव मिलने के बाद जेल प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग सतर्क हो गया है.

उन्‍होंने बताया कि गत 10 अगस्त से एक सितंबर तक जेल में तीन चरणों में स्वास्थ्य विभाग द्वारा शिविर लगाकर एचआईवी की जांच की गई. उन्‍होंने बताया कि तीनों चरणों की जांच में जेल के 26 कैदी एचआईवी संक्रमित पाए गए हैं.

यादव ने बताया कि इनमें से दो मरीजों की लखनऊ के लोहिया हॉस्पिटल में एआरटी (एंटी-रेट्रोवायरल थेरेपी) चल रही है और अब नए 24 मरीजों की एआरटी की जाएगी.

उल्लेखनीय है कि जिला जेल में 3,300 कैदी हैं. सीएमओ ने बताया है कि जिला जेल में बंद सभी कैदियों की जांच करने के प्रयास किए जा रहे हैं.

(समाचार एजेंसी भाषा से इनपुट के साथ)





Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.