उज्जैन सायबर ब्रांच पुलिस का कमाल, 120 लोगों के गुम हुए मोबाइल फोन ढूंढ निकाले


उज्जैन. उज्जैन की सायबर क्राइम पुलिस (Cyber Crime Police) ने तो कमाल ही कर दिया. उसने एक या दो नहीं बल्कि गुम हुए पूरे 120 मोबाइल फोन खोज निकाले. उससे भी बड़ी बात ये है कि मोबाइल फोन मालिकों को ढूंढ कर उन तक पहुंचा दिये गए. ये काम आसान नहीं था.

उज्जैन में लोगों के मोबाइल फोन लगातार गुम हो रहे थे. वो कभी चोरी हो रहे थे तो कहीं गुम हो रहे थे. अलग अलग थाना इलाकों से मोबाइल गुम होने की शिकायतें बढ़ीं तो उज्जैन की सायबर क्राइम ब्रांच पुलिस सक्रिय हो गयी. टीम ने मोबाइल फोन ढूंढने का अभियान सा छेड़ दिया. जल्द ही उसे कामयाबी भी मिल गयी. 120 मोबाइल फोन उसने ढूंढ़ निकाले.

17 लाख के मोबाइल फोन
पुलिस कंट्रोल रूम में शुक्रवार को एक साथ 120 लोगों को बुलाया गया. उनसे उनके हैंडसेट की पहचान करवायी गयी और फिर फोन उन्हें सौंप दिये गए. एसपी सत्येंद्र शुक्ल ने बताया सायबर ब्रांच पुलिस की टीम को ये कामयाबी मिली है. इन मोबाइल फोन की कीमत 16 लाख 80 हजार के करीब है.

ये भी पढ़ें- कांग्रेस नेताओं का Temple Run : प्रियंका गांधी ने पीतांबरा पीठ में माथा टेका, कमलनाथ पहुंचे केदारनाथ धाम

तीसरी बार किया कमाल
ये पहला मौका नहीं है जब उज्जैन पुलिस ने गुमे हुए मोबाइल फोन खोजकर उनके मालिकों को वापस किये हों. इससे पहले भी पुलिस ऐसा कर चुकी है. इससे पहले एक बार 49 और दूसरी बार 56 गुमे हुए मोबाइल फोन खोजकर उनके मालिक को दिए गए थे. मोबाइल मिलने के बाद लोगों ने कहा- उज्जैन सायबर क्राइम पुलिस ने ये हमें दीपावली का गिफ्ट दिया है.

खास तकनीक से खोजे फोन
एसपी ने बताया कि गुम हुए जिले भर के मोबाइल फोन को सायबर की टीम ने विशेष तकनीक के सहारे खोज निकाला है. इसमें थाना तराना, बड़नगर, चिमनगंज, चिंतामन, चिमनगंज, कोतवाली, माधव नगर, महाकाल महिदपुर, नागदा, नागझिरी, नानाखेड़ा, पंवासा थाने सहित सायबर ब्रांच टीम की विशेष भूमिका रही.

एसपी ने की अपील
उज्जैन एसपी ने आम लोगों से अपील की है कि अपने मोबाइल फोन के IMEI नंबर हमेशा नोट करके रखें. बेसिक जानकरी को याद रखें. अगर मोबाइल फोन गुम होता है तो बेसिक जानकारी के ज़रिए उसे खोजने में मदद मिल सकती है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *