इस पानी को पीने वाले बच्‍चों की स्किन और बाल हो जाते हैं खराब, आयुर्वेदिक डॉक्‍टर ने पैरेंट्स को दी चेतावनी


बच्‍चों को स्‍कूल में भूगोलशास्‍त्र की क्‍लास में सिखाया जाता है कि धरती का तीन चौथाई हिस्‍सा पानी से ढका हुआ है। सिर्फ एक चौथाई हिस्‍से पर ही मानव जीवन है। तो क्‍या इसका मतलब ये है कि हमें जीवनयापन के लिए कभी भी पानी की कमी नहीं होगी?

आपको जानकर हैरानी होगी कि धरती का 97 पर्सेंट पानी खारा है और 3 पर्सेंट से भी कम मीठा पानी है। खारे पानी में नमक की मात्रा अधिक होती है और रोज के कामों और पीने के लिए यह पानी सही नहीं होता है।

क्‍या है खारा पानी

आसान शब्‍दों में कहें तो जिस पानी में मिनरल की मात्रा जैसे कि कैल्शियम, मैग्‍नीशियम, नमक आदि की मात्रा ज्‍यादा होती है, उसे खारा पानी कहते हैं। ये पानी महासागर से आता है और इनकी सतहों में इन मिनरलों का जमाव होता है जिससे पानी खारा हो जाता है। भूजल खारा हो जाता है क्‍योंकि यह चूने पत्‍थर के जरिए या उसके ऊपर से बहता है। खारे पानी से सेहत को कोई खास नुकसान नहीं होता है लेकिन रोजमर्रा के इस्‍तेमाल के लिए ये सही भी नहीं है। इस आर्टिकल में बेंगलुरु के जीवोत्तम आयुर्वेद केंद्र के वैद्य डॉ. शरद कुलकर्णी, एम.एस.(आयुर्वेद), (पीएच.डी.) बता रहे हैं कि बच्‍चों को खारे पानी से क्‍या नुकसान हो सकते हैं।

बच्‍चों को खारे पानी से नुकसान

डॉ. शरद कहते हैं कि खारे पानी से स्किन को नरम और हेल्‍दी रखने में दिक्‍कत आ सकती है। इस पानी में उच्‍च मात्रा में सोडियम और मिनरल्‍स होते हैं जो स्किन को बहुत ज्‍यादा रूखा बना सकते हैं। कुछ बच्‍चों को खारे पानी की वजह से स्किन और स्‍कैल्‍प पर खुजली भी हो सकती है।

फोटो साभार : TOI

​रूखे बाल

स्किन की तरह ही बालों को भी खारा पानी रूखा और बेजान कर देता है। खारे पानी में सोडियम और अन्‍य मिनरल्‍स होते हैं। इससे बाल अपना नैचुरल ऑयल खो देता है और रूखे हो जाते हैं। लगातार खारे पानी के इस्‍तेमाल से दोमुंहे बालों की समस्‍या भी हो सकती है।

फोटो साभार : pexels

​एक्‍ने की प्रॉब्‍लम

पानी में मिनरल्‍स होने की वजह से यह स्किन के नैचुरल ऑयल्‍स को हटा देती है जिससे एक्‍ने निकलने लगते हें। इस मिनरलों के स्किन पर बैठने से स्किन पर दाग हो सकते हैं। एक्‍ने की प्रॉब्‍लम टीनएज उम्र में ज्‍यादा हो सकती है।

फोटो साभार : TOI

​क्‍या करें

अगर आपके यहां खारा पानी आता है तो आप इसे कम से कम 20 मिनट से लेकर एक घंटे तब उबालें। ठंडा होने पर इसे कंटेनर में भर लें और मिनरल को नीचे बैठने दें। इसके बाद इस पानी का प्रयोग करें।

फोटो साभार : TOI

​शॉवर या नल का पानी

आप शॉवर फिल्‍टर का भी इस्‍तेमाल कर सकते हैं। इन्‍हें अपने बाथरूम के नल या शॉवर पर लगा सकते हैं। एक बार इन्‍हें लगाने के बाद खारे पानी में कैल्शियम, क्‍लोराइन की मात्रा कम हो जाती है।

फोटो साभार : Economic Times

जानिए किस उम्र में बच्‍चे को कितना पानी पीना चाहिए



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.