अस्थमा मरीज के लिए भारत की ये जगह हैं बेहद खतरनाक, सपने में भी न करें इतनी ऊंचाई का प्लान


आज अस्थमा सबसे प्रचलित चिकित्सा बीमारियों में से एक है, जिसका मुख्य कारण आजकल वायु प्रदूषण बन चुका है। कई तो ऐसे हैं, जो कुछ इस समस्या की वजह से कहीं जा भी नहीं पाते, जैसे पहाड़ों पर घूमने जाना। वैसे इस तरह की परेशानी वाले लोगों को ऊंचाई वाली पहाड़ी पर जाने से मना किया जाता है। लेकिन अगर आप सच में पहाड़ों का मजा लेना चाहते हैं, तो नीचे बताए गए टिप्स का ध्यान जरूर रखें। इनकी मदद से आप आप अपनी पसंदीदा जगहों पर जा सकते हैं। लेकिन भारत में कुछ ऐसी जगह हैं, जो अस्थमा वाले मरीजों के लिए खतरनाक मानी जाती हैं।

अस्थमा मरीज पहाड़ों पर जाते हुए इन टिप्स का रखें ध्यान –

  • धीरे-धीरे आगे बढ़ते हुए अपने शरीर को एडजस्ट होने का समय दें।
  • अपने इनहेलर को हर समय अपने पास रखें और ले जाना तो बिल्कुल न भूलें।
  • जाने से पहले, अपने डॉक्टर से अपॉइंटमेंट लें।

ये हैं भारत के बेस्ट न्यूड बीच, जहां लोग बिना कपड़ों के अलग ही अंदाज में लेते हैं रेत और समुद्र का मजा

(फोटो साभार : TOI.com)

स्पीति घाटी – Spiti Valley

-spiti-valley

स्पीति घाटी बिना किसी संदेह के शांति और रोमांच के लिए शानदार जगह है। ये खूबसूरत जगह इतनी ऊंचाई पर स्थित है कि आपका शरीर शायद ही ऐसी जगह का आदी हो, खासकर अगर आपको अस्थमा है। जैसे-जैसे हवा में ऑक्सीजन की मात्रा कम होती जाती है, कई लोगों को सांस लेने में तकलीफ होने लगती है। ऐसे किसी भी व्यक्ति के लिए मनाली से आगे जाना सही नहीं है, जहां हवा का दबाव कम होने से समस्या होने लगती है।

ये हैं दुनिया के सबसे महंगे देश, रोजाना किराने का सामान खरीदने से पहले 100 बार देखेंगे कीमत

पहलगाम – Pahalgam

-pahalgam

कश्मीर में पहलगाम पहाड़ी शहरों में से एक है, जहां पर्यटक सबसे ज्यादा घूमने के लिए जाते हैं। हालांकि पहलगाम कितना भी प्यारा क्यों न हो, हर कोई पहाड़ों या ऊंचाइयों को हैंडल करने में सक्षम नहीं होता। इस जगह तक जाने के लिए आपको पैदल जाना पड़ेगा, हालांकि शुरूआती पड़ाव तक तो ठीक है, लेकिन 2,000 फीट की ऊंचाई पर जाना अस्थमा मरीजों के लिए सही विचार नहीं है।

देश की इन स्मारकों को बनाने में अंग्रेजों का नहीं है कोई हाथ, सुंदरता देख विदेशी भी होते हैं इनके आगे नतमस्तक

लद्दाख – Ladakh

-ladakh

लद्दाख एक मजेदार जगह है, जहां जाने का सपना करीबन हर किसी का होता है, वैसे यहां सबसे ज्यादा बाइकर्स घूमने के लिए जाते हैं। उबड़-खाबड़ घाटियों और पहाड़ों, घुमावदार सड़कों और संपन्न सांस्कृतिक जीवन लद्दाख को एक खूबसूरत जगह बनाते हैं। वैसे लद्दाख की सड़कें धूल के कारण अस्थमा के मरीजों के लिए परेशानी का सबब बन सकती हैं। अस्थमा के मरीजों को भी ठंड में इतनी ऊंचाई पर चढ़ने से बचना चाहिए। चढ़ाई वाले रास्ते और ऊपर से ठंडा मौसम ये दोनों मेल आपकी हालत खराब कर सकते हैं।

भारत में दो हैं ताजमहल तो दो हैं अक्षरधाम मंदिर, देखने के बाद ही हमारे साथ-साथ आपका भी चकरा जाएगा सिर

दार्जिलिंग – Darjeeling

-darjeeling

भारतीय राज्य पश्चिम बंगाल में दार्जिलिंग नामक का एक आकर्षक शहर स्थित है। दुनिया का तीसरा सबसे ऊंचा पर्वत कंचनजंगा इस प्यारे से शहर पर मानों राज करता है। लेकिन ऊंचाई पर जाने की वजह से यहां ऑक्सीजन में गिरावट आ जाती है। जैसे-जैसे आप ऊपर चढ़ेंगे, हवा का दबाव कम होता जाएगा और सांस लेने में दिक्कत होने लगेगी। सांस लेने की समस्या के दौरान आप कंचनजंगा बेस कैंप पर रुक सकते हैं।

‘बकिंघम पैलेस’ है दुनिया का सबसे महंगा घर, अंबानी का एंटीलिया भी पड़ जाता है इसके आगे फीका

सिक्किम – Sikkim

-sikkim

अपनी अछूती प्राकृतिक सुंदरता के साथ, सिक्किम भारत के हिमालयी क्षेत्र का ताज है। जो यात्री बाहर घूमना पसंद करते हैं, वे इस छोटे से राज्य को भी अपनी लिस्ट में शामिल कर सकते हैं। अगर आपको अस्थमा के सीरियस दौरे पड़ते हैं, तो आपको उत्तरी सिक्किम जाने से बचना चाहिए, क्योंकि अगर चिकित्सा आपात स्थिति उत्पन्न होती है, तो आप तुरंत आपातकालीन सेवाओं तक नहीं पहुंच पाएंगे। इसके अलावा, सिक्किम के कई और आकर्षण हैं, जो देखने लायक हैं।



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *